UttarakhandDIPR

देखो…देखो…देखो…देहरादून के कोविड सेंटर का ये हाल देखो। आज 878 संक्रमित, 13 की मौत। uttarakhand corona

कोरोना हेल्थ बुलेटिन-रविवार को 878 मरीज, 13 मरीजों की मृत्यु, कुल 40963 मरीज

देहरादून के रायपुर स्टेडियम में बने कोविड सेंटर में गंदगी व अव्यवस्था का आलम

अविकल उत्त्तराखण्ड

देहरादून। त्रिवेंद्र सरकार के पास कोरोना से दो-दो हाथ करने के लिए धन की कोई कमी नही है। पर्याप्त व पुख्ता बजट है। मुख्यमंत्री कोविड फंड में भी ठीक ठाक दान किया गया है। मोदी सरकार से भी मिल रहा है। विधायकों-कर्मचारियों के वेतन में भी कटौती हो रही है। मतलब धन का कोई रोना धोना नही है। कोरोना की रोकथाम के लिए सरकारी प्रयासों के आकर्षक विज्ञापन भी खूब लुभा रहे हैं। फिर भी, राज्य सरकार कोरोना की रोकथाम और व्यवस्था के तमाम दावे करे लेकिन जमीनी हकीकत कुछ अलग ही तस्वीर पेश कर रही है। जब राजधानी देहरादून के कोविड सेंटर का यह हाल है तो अन्य जगह की स्थिति का अंदाजा स्वंय लगाया जा सकता है।

Uttarakhand corona

यह हाल तब है जब शासन कोविड सेंटर की तमाम शिकायतें मिलने के बाद नोडल अधिकारी की तैनाती का फरमान भी जारी किया हुआ है। और हर दिन एक हजार से दो हजार के बीच संक्रमित मरीज की संख्या आम गरीब गुरबों के होश उड़ाए हुए हैं।

Uttarakhand corona

रविवार 20 सितम्बर 2020 की ताजा तस्वीर वॉयरल की है। जगह है, देहरादून के रायपुर स्टेडियम में बने राजीव गांधी कोविड सेंटर की। जानकारी के मुताबिक कोरोना पॉजिटिव मरीज को इस सेंटर में भेजा गया था। लेकिन सेंटर में मौजूद गंदगी व अफरा तफरी देख उसने वहां रहने से इनकार कर दिया।

Uttarakhand corona

चित्र देखने से साफ लग रहा कि देहरादून के इस कोविड सेंटर को कोई देखने वाला नहीं। बिस्तर पर खाली बोतल पड़ी है। कहीं गद्दे है तो चादर नही। मेज कुर्सी लावारिस पड़ी है। बिस्तर पर जूस व पानी की खाली बोतलें पड़ी हुई है। फर्श पर गंदगी इतनी कि लगता है कई दिन से झाड़ू नही लगी।गंदगी जमीन पर जमी दिखाई दे रही है।

Uttarakhand corona
हेल्थ बुलेटिन 20 सितम्बर 20

सब कुछ राम भरोसे ही लग रहा। कुछ मरीज अवश्य बिस्तरों पर लेटे हैं। वे मरीज भी मजबूरी में ही पड़े हैं। यह हाल देहरादून का है। जहां सरकार के भारी भरकम नुमाइंदे रोज भारी भरकम बैठक कर लंबे चौड़े दिशा निर्देश जारी कर रहे है। इन कोविड सेंटर में मुकम्मल व्यवस्था न बना पाने व संक्रमितों की संख्या में बेहिसाब इजाफे के बाद त्रिवेंद्र सरकार ने इसीलिए मरीज को होम आइसोलेशन का विकल्प व सुविधा दी।

वॉयरल चित्र कोटद्वार के कोविड केंद्र का बताया जा रहा है। खुल कर शराब पार्टी चल रही है। कोई देखने वाला नहीं।

कुछ कोविड सेंटर में भर्ती मरीजों द्वारा शराब पार्टी की वायरल तस्वीर भी साफ इशारा कर रही है कि निगरानी के लिए सरकारी कर्मचारी मौके से गायब है।

अन्य मैदानी और पर्वतीय इलाकों में कोविड सेंटर के हाल कैसे होंगे। यह अनुमान स्वतः ही लग जाना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने पास ही रखी है।

Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews Uttarakhandnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content of this site is protected under copyright !!